गुरुवार, 13 मई 2010

मैं तेरी यादों से कितना दूर चला आया हूँ। त्रिवेणी की कोशिश!


न है अब दिल को दुखाने की वजह,
न कोई रोने का सबब ही बाकी है,
!
!
!
मैं तेरी यादों से कितना दूर चला आया हूँ।

5 टिप्‍पणियां:

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails