रविवार, 28 फ़रवरी 2010

तेरे लबों के बोल, रंगीन हैं, रंगों की तरह! त्रिवेणी की कोशिश!


बरसते हैं यूँही रंगों की तरह,
और दिल को गुलज़ार कर जाते हैं,
!
!
!
तेरे लबों के बोल, रंगीन हैं, रंगों की तरह.....

4 टिप्‍पणियां:

  1. सुभान अल्लाह...वाह...लाजवाब...

    होली की शुभकामनाएं
    नीरज

    उत्तर देंहटाएं
  2. जब कोई बात बिगड़ जाए
    जब कोई मुश्किल पड़ जाए तो
    तो होठ घुमा सिटी बजा सिटी बजा के
    बोल भैया "आल इज वेल"
    हेपी होली .
    जीवन में खुशिया लाती है होली
    दिल से दिल मिलाती है होली
    ♥ ♥ ♥ ♥
    आभार/ मगल भावनाऐ

    महावीर

    हे! प्रभु यह तेरापन्थ
    मुम्बई-टाईगर

    ब्लॉग चर्चा मुन्ना भाई की
    द फोटू गैलेरी
    महाप्रेम
    माई ब्लोग
    SELECTION & COLLECTION

    उत्तर देंहटाएं
  3. बहुत खूब नदीम भाई वाह . . रंगोत्सव पर्व की हार्दिक शुभकामनाये .

    उत्तर देंहटाएं

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails