शनिवार, 30 अक्तूबर 2010

और भटकते रहे हम रात भर! एक ख़याल ये भी!


ये ज़िन्दगी और उनकी तलाश
और भटकते रहे हम रात भर......

2 टिप्‍पणियां:

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails